हँसना मत भूलिये…. ;-)

il
Credit: Google se uthaya

हँसना मत भूलिये…. 😉

ख़त उछाला मैंने तेरे छत पर,
तेरे पिता के हाथ आयी
भरी दोपहरी में मानों
हो मेरी सामत आयी

टशन में था तेरे छत के नीचे
दोस्त मेरा बुलेट पर ड्राइवर था
बन्दुक लेकर निकला तेरा बापू
मानों आर्मी का स्नाइपर था

बन्दुक देख मैंने झट से बोला,
अबे भाग, जल्दी से बुलेट दौड़ा
नहीं तो कोई और बुलेट चल जाएगी
काला चश्मा लेदर का जैकेट
सारी टशन मिट्टी में मिल जाएगी

हद तो तब हो गयी
बुलेट जब दगा दे गयी
उसने किक लगाया , सेल्फ लगायी
फिर भी वह स्टार्ट न हो पायी

दोस्त को बोला
अबे भाग, 100 मीटर वाली दौड़ लगा
गाड़ी छोड़, पहले
अब अपनी अपनी जान बचा

दोस्त मेरा वजनदार था
भागने में बिलकुल लाचार था
मैं दौड़ता गया
हाय! वो पकड़ा गया

मैंने सोचा अभी दौड़ते ही जाना है
कुछ भी हो अभी तेरे बापू के हाथ न आना है
और बात जहाँ तक दोस्ती के फ़र्ज़ की है
उसे हॉस्पिटल में निभाना है😊

सुरक्षित स्थल तक जब मैं पहुंचा
तो तेरा कॉल आया
दोस्त पे क्या बीतती होगी, उसे कुछ पल भूल
मेरा चेहरा मुस्काया

पर तुम भड़क गयी और बोली
आप भी हद्द करते हैं
भारत मंगल पर पहुँच गया
और आप हैं कि मुझे खत लिखते हैं
और पकडे जाते हैं

अब आपकी एक नहीं सुनूँगी
आपके फ़ोन पे मैं खुद ही
व्हाट्सएप्प इनस्टॉल करुँगी

मैंने बोला यह सब तो ठीक है
ये बात बता, तेरे बापू ने
मेरे दोस्त का क्या हाल कर डाला है
कुछ हड्डियां छोड़ भी दी
या पूरा का पूरा तोड़ डाला है☺️

उसने कहा,
ऐसा कुछ नहीं घटा है
जो संग था आपके
वे मेरे दूर का रिश्तेदार में भाई निकला है

चौंक गया मैं
सोचा की क्या गड़बड़ घोटाला है
जो कल तक मेरा दोस्त था
अब होने वाला मेरा साला है 😜….

 

जीवन में हँसना मत भूलिये ……….

……….अभय…………

 

 

Advertisements

40 thoughts on “हँसना मत भूलिये…. ;-)

  1. पर तुम भड़क गयी और बोली
    आप भी हद्द करते हैं
    भारत मंगल पर पहुँच गया
    और आप हैं कि मुझे खत लिखते हैं
    और पकडे जाते हैं
    😜😜😜😜😜😜😜😜🤗🙏

    Liked by 1 person

  2. आपकी कविता रोते को हंसाने वाली है। बहुत अच्छा लिखा है। पर मुझे टशन शब्द का प्रयोग किस अर्थ में किया गया है नहीं समझ में आया। क्या ये अंग्रेज़ी word है।

    Liked by 1 person

    1. 😀😀 आपके शब्दों के लिए धन्यवाद…
      टशन का वास्तविक अर्थ तो नहीं पता पर समकालीन भाषा उपयोग में, अंग्रेजी में style के समतुल्य है।

      Like

  3. काफी विस्तृत और व्यंगात्मक तरह से आपने घटना का वर्णन किया है, ना सिर्फ पड़ने मे अच्छा लगा बल्कि कुछ पुरानी यादे भी ताज़ा हो गई |

    Liked by 1 person

    1. हा हा, यह अब तक का सबसे अच्छी प्रतिक्रिया मिली मुझे। आपकी पुरानी यादें ताज़ा हो गई, यह जानकर मजा आ गया। ब्लॉग पर जरूर शामिल करें 😂

      Liked by 1 person

          1. अरे कोई बात नहीं😀,समझ गया था। लेखनी का भाव महत्वपूर्ण होता है,शब्द कम महत्वपूर्ण।। सचमुच में बहुत अच्छा हास्य कंटेंट है👌

            Liked by 1 person

            1. धन्यवाद आपका फिर से, पर कमेंट में नाम गलत हो जाये तो पाठको पर हो सकता है गलत इम्प्रैशन बने, इसलिए माफ़ी. हाँ वैसे यह कविता मेरे और मित्रों को भी पसंद आयी:)

              Liked by 1 person

  4. Pingback: रिमिक्स “रस” :-D – the ETERNAL tryst

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s