सैनिक मन

जो भी भारतीय हैं, उनके मन में अपने सैनिकों के लिए अपार सम्मान  होता है. युद्ध हो, आपदा आये, सैनिक ही रक्षक बनकर आते हैं. हाल ही के समय में सेनाओं पर हमले की खबर काफी ज़्यादा सुनने को मिल रही है. मन आहात था. कुछ पंक्तिया लिखीं, आप सब तक बढ़ाता हूँ. आप अपनी प्रतिक्रिया मुझ तक पहुंचाइए..

सैनिक मन

सेनाओं के मन में
ऐसे भाव कहाँ से आते हैं
जान हथेली पर रखकर भी वो
भारत की लाज बचाते हैं

उनके भी अपने होते हैं
बच्चे भी रोते हैं
मातृभूमि की रक्षा को जब वो
रणभूमि पर होते हैं

अश्रुपूर्ण नयन से पूछती संगिनी,
वापस कब तुम आओगे
कब पुत्र, पिता और पति का
अपना धर्म निभाओगे

हल्की सी मुस्कान लिए मुख पर वह कहते
मैं वापस आऊंगा
राष्ट्रधर्म है पर्मोधर्म:
पहले इसको मैं निभाउंगा

युद्ध हमें भी अच्छा नहीं लगता
बर्बरता की निशानी है
पर अगर शत्रु जो आँख दिखाए
सोयी नहीं जवानी है

…….अभय …….

Advertisements

22 thoughts on “सैनिक मन

  1. युद्ध हमें भी अच्छा नहीं लगता
    बर्बरता की निशानी है
    पर अगर शत्रु जो आँख दिखाए
    सोयी नहीं जवानी है 👍👍👍

    सराहनीय , श्रेष्ठ रचना 👌🤗🤗🤗🤗

    Liked by 1 person

    1. I lost one of my school mate in the skirmishes with Pak in Kashmir. I saw that catastrophic sequence of events which followed after that in his home. No words can describe that extreme sacrifice. Thank you for going through and feeling the post.

      Like

      1. I know what you’re talking about. It’s tragic and heartbreaking.
        I seriously hope they do something about the constant attacks on them which are so on rise, everyday so many are dying. It’s no joke.
        And we the civilians, the least we could do is remember their sacrifice and never turn thankless.

        Liked by 1 person

  2. आपने सैनिक मन बहुत ही अच्छा लिखा है। अश्रु पूर्ण नयन————-अपना धर्म निभाओगे। ये लाइन मुझे बहुत पसंद आया। लाज बचते की जगह बचाते होना चाहिए।

    Liked by 1 person

  3. I can so very well relate to this post…My hubby lost his father in 87 war.. So can actually tell you what a loss means.. Our soldiers are our pride and thus we should be proud of them.. Blessed to be a part of such a family who believes in serving the nation 🙂

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s