एक और दिसंबर बीत गया..

Pondi
Sun Rise or Sun Set? Clicked it in Pondicherry, Bay of Bengal

एक और दिसंबर बीत गया

अभी तो सूरज निकला ही था
और झट में फिर वो डूब गया
एक और दिसंबर बीत गया

अभी बसंत की हुई थी दस्तक
पर अब, पत्ता पत्ता सूख गया
एक और दिसंबर बीत गया

जनवरी में कई कस्में खायी थी हमने
पर अगणित बार वो टूट गया
एक और दिसंबर बीत गया

लाख कोशिशें कर उन्हें मनाया था हमने
पर एक नादानी से वो, हरपल के लिए रूठ गया
एक और दिसंबर बीत गया

हार की कई गाथाएं लिख दी इसने
पर आशाओं के कई पन्नों को भी जोड़ गया
एक और दिसंबर बीत गया

सोचा शाश्वत सा यह पल है
पर बारह किश्तों में ही पीछा छूट गया
एक और दिसंबर बीत गया

स्मृति पटल पर कुछ धुंधले चेहरे
और कई नई छवि को जोड़ गया
एक और दिसंबर बीत गया

स्थिरता मरण, गति जीवन है
शायद से वो, चीख-चीख कर बोल गया
एक और दिसंबर बीत गया

………अभय ………

 

Advertisements

53 thoughts on “एक और दिसंबर बीत गया..”

  1. बहुत सुंदर अभिब्यक्ति।।।सच—
    स्थिरता मरण, गति जीवन है
    शायद से वो, चीख-चीख कर बोल गया
    एक और दिसंबर बीत गया

    Liked by 1 person

    1. Thanks Cornelia! But to your surprise and amusement, it’s not the Sunset, rather a sunrise. I have given the hint also as it was clicked in Pondicherry in Bay of Bengal near Chennai, which lies in Eastern Coast of India. Thanks for guessing though. Hope you had a great Christmas. Wishing you a very Happy 2018.

      Like

  2. जिंदगी ऐसे हीं गुजरती जाती है- साल.. …महीने…..दिन…मौसम…. .
    आने वाला नव वर्ष मंगकमय हौ।

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s