Lowdown of Simultaneous Election

When it comes to the celebration of festivals, probably no other country in the world can beat us in terms of sheer numbers which we have here in India. The dates of our annual calendar are always filled with colours, signifying one festival or the other. Festivals are generally a cultural and historical attribute of …

Continue reading Lowdown of Simultaneous Election

Advertisements

एक और दिसंबर बीत गया..

एक और दिसंबर बीत गया अभी तो सूरज निकला ही था और झट में फिर वो डूब गया एक और दिसंबर बीत गया अभी बसंत की हुई थी दस्तक पर अब, पत्ता पत्ता सूख गया एक और दिसंबर बीत गया जनवरी में कई कस्में खायी थी हमने पर अगणित बार वो टूट गया एक और …

Continue reading एक और दिसंबर बीत गया..

सुलगती ज्वाला

सुलगती ज्वाला सुलगती ज्वाला, जन जन के मन में और तुम उसे ढकने चले वो भी, सूखे घास और पत्तों से नमी रहित कागज के टुकड़ों से फेकीं गयी कपड़ों के चिथड़ों से सूखे आम की डालों से शुष्क सागवान की छालों से उस दहकते अंगारों को ढक कर निश्चिंत होकर तुम बैठ गए अरे!!! …

Continue reading सुलगती ज्वाला

रेस्टोरेंट का खाना ..

उम्र 13-14 की होगी. नीचे से उसके शर्ट के दो-तीन बटन टूटे हुए थे, जब वह दौड़ कर अपने पिताजी की तरफ़ आ रहा था तो हवा में उसकी शर्ट फैलने लगी, ऐसा लग रहा था जैसे आकाश में कोई विशालकाय पक्षी अपना पंख फैलाये उड़ रहा हो. पावों में चप्पलें तो थी, पर मटमैली …

Continue reading रेस्टोरेंट का खाना ..

विडंबना..

वो झूठ था मैं जानता था पर, सच को न जानने की ढोंग मैं करता रहा काश! मेरे उस ढोंग को तुम जान लेते मेरे हर झूठे हँसी में छिपे आह को , तुम पहचान लेते और अब जब कि वर्षों बाद तुमने ये जान लिया है कि मैं वो सच जानता था तो विडंबना …

Continue reading विडंबना..

Pass it on..

A good leader is one, who doesn’t always leads from the front, but when the time demands he is ready to operate from the back as well. Those leaders, who are insecure about their position never wants to relinquish his frontal space, as they always have a doubt in back of their mind that if …

Continue reading Pass it on..