बीता वर्ष

तुम जो जा रहे
सब तुम्हे भूल जायेंगे!
नए के स्वागत में सभी
कई मिलन गीत गायेंगे


पता है कि तुम कभी
लौटोगे फिर से नहीं
उन कहानियों का क्या होगा
मिलकर जो हमने गढ़ी


क्या करुँ कि मन मेरा
तुममे ही टिका है
कई खट्टी मिट्ठी यादों का
सजा जो कारवां है


कि जाना सबको है
कि अब तुम्हारा समय हुआ
पर ये स्मरण रहे तुम्हें कि तुमने
दिल के हर कोने को छुआ

……..अभय…….

Advertisements