अनायास ही नहीं ..4

अपनी यादों से तेरी यादों को विस्मृत होने नहीं देता लौ बुझ सी जाती है मैं दीये में तेल फिर…